पत्थर खदान संचालित करने वाले खनिज लीज़ धारक शासन के नियमानुसार मापदंडो का पालन करने ले लिए अपनी ज़िम्मेदारी कागजी कार्यवाही मे तो दर्शाते है, पर सवाल यह उठता है कि जो पूर्व समय मे हालात थे, वही आज भी बदलाव कुछ नहीं। इन हालातो के चलते यह कहने मे अतिशयोक्ति नही होगी कि नियमो की अनदेखी हो रही है।

ज़िला प्रशासन करे नियमो का पालन

रोजगार मिलने से मजदूर तो काम पर जा पाहुचे, पर इनकी ज़िंदगी सुरक्षित रहे, फिर किसी मजदूर की मौत सिलिकोसिस नमक बीमारी से असामयिक न हो, इसके लिए पत्थर खदान मे3 काम करने वाले मजदूरों की ज़िंदगी को ध्यान मे रख कर ज़िला प्रशासन को निमयों का पालन करना चाहिए। विस्तार से पढ़ें