सिलिकोसिस एक जानलेवा बीमारी है जो पत्थर, हीरा खदान एवं गिट्टी क्रेशरों मे काम करने वाले मजदूरों मे पाई जाती है। एनवीरोनिक्स ट्रस्ट (Environics Trust) के सहयोग से पत्थर खदान मजदूर संघ ने इस बीमारी की पहचान कराई है। जिसे मध्य-प्रदेश की विधान सभा ने भी स्वीकार किया है। साथ ही राष्ट्रिय मानवाधिकारआयोग के निर्देश पर मध्य-प्रदेश सरकार ने 02 मई 2015 को 4 ऐसे मजदूरों के परिवारों को जिनकी मृत्यु सिलिकोसिस बीमारी से हुई थी, उस परिवार वालों को 03 लाख रुपए का मुवाब्जा दिया गया है।शासन के ऐसे निर्देश है कि सिलिकोसिस की जांच के लिए प्रेत्येक बुद्धवार को कैंप लगाया जाय जिससे पीड़ित मजदूरों की जांच हो सके।लेकिन पन्ना ज़िले मे न तो जांच के कोई प्रबंध है और न ही इस बीमारी की जांच के लिए कोई स्पेसलिस्ट डॉक्टर ही है। विस्तार से देखें