देहरादून : मुख्यमंत्रीहरीशरावतकीउपस्थितिमेंजापानइन्टरनेशनलकोआपरेशनएजेंसी(जायका) वउत्तराखण्डशासनकेमध्यउत्तराखण्डकेवनक्षेत्रोंमेंलैंडस्लाईडप्रबंधनमेंतकनीकीसहायताकेलिएएमओयूपरहस्ताक्षरकिएगए।उत्तराखण्डशासनकीओरसेअपरमुख्यसचिववएफआईडीसीएस. रामास्वामीमुख्यपरियोजनानिदेशकजायकापरियोजनाद्वारावजायकाकीओरसेउनकेभारतप्रमुखताकेमासाकामोतोद्वाराहस्ताक्षरकियेगये।

एमओयूकेतहतजायकाद्वाराप्राकृतिकआपदाओंकेकारणहोनेवालीक्षतिकेप्रबन्धनसेसंबंधिततकनीकीसहायताकीएकनईपरियोजनाकेकार्यान्वयनपरसहमतिदीगईहै।तकनीकीसहायतापरियोजनाकामुख्यउद्देश्यउत्तराखण्डराज्य, विशेषरूपसेउत्तराखण्डवनविभागकीक्षमताकाविकासकरनाहै।राज्यकेवनक्षेत्रोंमेंभूमि-क्षरणकीसमस्याकेसमाधानतथाभूमिसंरक्षणसेसंबंधितकार्योंकातकनीकीदृष्टिसेसुदृढ़नियोजनतथाप्रभावीकार्यान्वयनकरनेमेंवनविभागऔरअधिकसक्षमहोसकेगातथावनक्षेत्रोंमेंप्राकृतिककारणोंसेहोनेवालीलैंडस्लाइडसेभविष्यमेंभीनिबटनेकेलियेसमुचितरणनीतिविकसितकीजासकेगी।इसतकनीकीसहायताकार्यक्रमकासमन्वयनवर्तमानमेंजायकाकीसहायतासेचलाईजारहीउत्तराखण्डवनसंसाधनप्रबन्धनपरियोजना, विशेषकरआपदान्यूनीकरणसंबंधीकार्यमदकेसाथकियाजायेगा।

इसतकनीकीसहायताकार्यक्रमकेअन्तर्गतवनक्षेत्रोंमेंभूमिसंरक्षणएवंलैंडस्लाइडउपचारकार्योंसेसंबंधितफील्डसर्वे, संरचनाओंकेडिजायन, निर्माणएवंपर्यवेक्षणकार्यमेंउत्तराखण्डवनविभागकीसहायताकेलिएजापानीविशेषज्ञोंकीसेवायें‘जायका’ द्वाराउपलब्धकरायीजायेंगी।इनजापानीविशेषज्ञोंद्वाराइससेसंबंधितनवीनतमतकनीकीकीजानकारीदेनेतथाइनकार्योंकेलिएउत्तराखण्डएवंअन्यहिमालयीराज्योंकोप्रशिक्षितकरनेमेंभीसहायतादीजायेगी।

एमओयूपरप्रसन्नताव्यक्तकरतेहुएमुख्यमंत्रीश्रीरावतनेकहाकिजायकाकीसहायतासेउत्तराखण्डमेंपहलेसेही750 वनपंचायतोंमेंकार्यचलरहाहै।अबवनक्षेत्रोंमेंलैंडस्लाईडप्रबंधनमेंभीराज्यकोमहत्वपूर्णसहायतामिलेगी।मुख्यमंत्रीश्रीरावतनेकहाकिवनकेअतिरिक्तअन्यक्षेत्रोंमेंभीसहयोगकीबहुतसम्भावनाएंहैं।राज्यकीआईटीआई, पालिटेक्नीकवइंजीनियरिंगकालेजोंमेंगुणववत्तासुधार, स्किलडेवलपमेंट, इकोटूरिज्म, शहरीविकास, परिवहन, जलसंरक्षणवजलप्रबंधनऐसेहीकुछमहत्वपूर्णक्षेत्रहैंजिनमेंमिलकरकामकियाजासकताहै।

जायकाकेभारतप्रमुखताकेमासाकामोतोनेकहाकिभारतवजापानएकदूसरेकेस्वाभाविकसहयोगीहैं।इसनईपरियोजनाकाउद्देश्यवनक्षेत्रोंमेंभूमिक्षरणकोरोकनेमेंउत्तराखंडवनविभागकीक्षमताकोबढ़ानेवइसकेमाध्यमसेस्थानीयलोगोंकोसुरक्षितजीवनउपलब्धकरानेकेसाथउन्हेंगिरनेवालीआर्थिकहानिकोकमकरनेमेंसहायताकरनाहै।उन्होंनेआशाव्यक्तकीकिइसपरियोजनाकालाभभारतकेअन्यहिमालयीराज्योंतकपहुंचेगा।

इसअवसरपरमुख्यसचिवशत्रुघ्नसिंह, प्रमुखसचिवडा.उमाकांतपंवार, सचिवअमितनेगी, आरमीनाक्षीसुंदरमसहितअन्यवरिष्ठअधिकारीउपस्थितथे।

सौजन्यसे: देवभूमिमीडिया