एसईसीएल के अफसरों के खिलाफ जुर्म दर्ज

एसईसीएल के अधिकारियों के खिलाफ हाईकोर्ट के आदेश पर छाल थाने में अपराध दर्ज कर लिया गया। लात गांव में जमीन अधिग्रहण के बाद प्रभावितों को नौकरी देने की बजाए अधिकारियों ने कुछ स्थानीय लोगों से साठगांठ कर गांव के बाहर व पड़ोसी राज्यों के लोगों को नौकरी दी थी। जिसे लेकर पीड़ित भूषण सिंह राठिया ने हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी। जिस पर कोर्ट ने 26 अगस्त को मामले में तत्कालीन महाप्रबंधन, उपक्षेत्रीय महाप्रबंधक छाल, खान मैनेजर, भू -अर्जन अधिकारी सरपंच समेत रोजगार प्राप्त करने 7 लोगों पर जुर्म दर्ज करने के आदेश दिए थे।

जिस पर छाल थाना प्रभारी अमित शुक्ला द्वारा 15 सितंबर को सभी के खिलाफ 420,468 व 471 के तहत जुर्म दर्ज कर मामले में विवेचना की जा रही है। पीड़ित भूषण सिंह राठिया ने लात ओपन कास्ट माइंस के लिए 2005-06 में अपनी पैतृक जमीन 3.570 हेक्टेयर जमीन एसईसीएल को दी। जमीन के एवज में प्रथम अवार्ड पारित भूमि का मुआवजा मिला। जबकि दूसरा अवार्ड भूमि का मुआवजा उन्हें अबतक नहीं दिया गया है। इसके अलावा पुनर्वास नीति के तहत प्रत्येक दो एकड़ पर परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने प्रावधान है, लेकिन पीड़ित के 6 एकड़ शेष भूमि को किसी को नौकरी नहीं मिली। Read more